Friday, August 24, 2012

Choti choti khushiyan

छोटी छोटी खुशियाँ, उन्हें धुंडने चला मैं 
शायद कही गुम हो गयी, छोटी सी जो है 

कभी मुस्कान दिल की यूँ ही ले आती है
बिना सोचे बिना समझे हमको हसती है 

ना past का भूत ना future की चिंता
इनके छोटे से लम्हों मैं हमें मस्त कर जाती है 

कभी मीठे से चुटकुले, कभी छेड़खानी यारो मैं 
कभी icecream की treat , कभी टॉफी so sweet 

बिन सोचे बिन समझे टेंशन दूर कर जाती है
छोटी छोटी खुशियाँ आज कल बड़ी याद आती है 

Saturday, August 18, 2012

भीगे पन्ने

भीगे पन्नो की एक कहानी है 
आज बारिश को यूँ सुनानी है 
लिखा तो बहुत था उनपे 
उन्ही शब्दों मैं यह बह जानी है 

श्याही चाहे पकड़ न सकी 
फिर भी ख्वाबो की दुनिया अनजानी है 
कुछ बूंदे ही लगी उन्हें मिटाने
फिर भी उसे पहचान अपनी जतानी है 

उस श्याही को यूँ दाग न कहो 
इन्हें अब भी दास्ताँ जतानी है 
भीगे पन्नो की एक कहानी है 
आज बारिश को यूँ सुनानी है